Translate

सोमवार, 3 मार्च 2014

सहाराश्री से बड़ा देशभक्त शायद ही दूसरा कोई हो

आज की तारीख में सहारा और इस कम्पनी के मुख्य अभिभावक सहाराश्री सुब्रत राय सहारा जी खूब चर्चा में है. सेबी के मनमानेपन की वजह से सहारा का नाम लोगो की जुबान पर है. लोग तरह तरह की चर्चाये कर रहे है लेकिन यह कम लोग जानते होंगे कि सहारा श्री से बड़ा देश भक्त शायद कोई नही है. सहारा देश का इकलोता ऐसा संस्थान  है जहा कोई भी मीटिंग प्रारम्भ होने से पहले भारत माता के चित्र पर पुष्प चढ़ाकर दीप जलाया जाता है. सहारा शहर में भारत माता की भव्य मूर्ति स्थापित है. मैंने तो पहली बार सहारा शहर में भारत माता की प्रतिमा को देखा. देश के कई हिस्सों में मेरा जाना हुआ लेकिन कही भी इस तरह की कोई प्रतिमा नही मिली. भारत माता के प्रति इस तरह का सम्मान सहारा श्री की तरफ से प्रस्तुत किया जाना उनके देश प्रेम को ही दर्शाता है. यही नही सहारा में जब कोई मीटिंग होती है, उसका समापन राष्ट्रगान के साथ होता है. मेरी जानकारी में देश में कोई ऐसा संस्थान नही है जहा मीटिंग का समापन राष्ट्रगान से होता हो. देश के ढेर सारे लोग इसी वजह से सहारा से जलन रखते है. सेबी भी कुछ इसी तरह कर रहा है. सेबी को कम्पनी की तरफ से जो ५१२० करोड़ दिया गया है उसे सेबी निवेशको को क्यूँ नही वापस कर रहा है. सेबी को यह भी समझना चाहिये कि कोई भी जमाकर्ता क्यूँ सहारा के किसी दफ्तर या सेबी के पास पैसे मांगने क्यूँ नही जा रहा है. अगर कम्पनी पर किसी का बकाया होता तो लोग सहारा के दफ्तर में तो जाते. सेबी के मनमाने कदम के बाद भी कोई जमाकर्ता सहारा के दफ्तर पर नही जा रहे है. वजह जमाकर्ता को सहारा पर पूरा भरोसा है. वह जानते है कि सहारा के पास उनका धन सुरछित है. सहारा सरकारी नियमो के तहत ही लोगो के पैसे जमा करता है और समय पर वापस करता है. आज भी रोज लोग अपने पैसे जमा करने के साथ ही निकासी भी कर रहे है. सेबी को इस पर भी नजर दौड़ानी चाहिये. सहारा देश की पहली संस्था है जिसने रेलवे के बाद सबसे ज्यादा नौकरी दी है. सहाराश्री को सहारा के कर्तव्य योगियों के साथ ही विभिन्न वर्गों के लोग कलयुग का भगवन मानते है. एक दशक से ज्यादा समय तक सहारा क्रिकेट का प्रायोजन करता रहा. यह सहाराश्री जी के देश प्रेम को ही दर्शाता है.

6 टिप्‍पणियां:

  1. सहाराश्री बहुत अछे आदमी हैं परन्तु यह कहना गलत होगा कि उनसे बड़ा देशभक्त कोई और नहीं हो सकता. सेबी के बारे में ज्सरूर कहा जा सकता है कि वह मनमाने ढंग से आचरण करती है. इसमें दो राय नहीं कि सहारा देश के उन दुर्लभ संस्थानों में है जहां कोई भी मीटिंग प्रारम्भ होने से पहले भारत माता के चित्र पर पुष्प चढ़ाकर दीप जलाया जाता है और सहारा शहर ही नहीं सहारा अस्पताल में भी में भारत माता की भव्य मूर्ति स्थापित है.

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. अशोक जी कृपया मुझे ये बतायें की देश के बड़े औद्योगिक घरानों मे से किसने देश के बारे मे इतना जितना सहारा श्री जी ने.... देशभक्त तो हैं ही और इस बात को कोइ नकार नहीं सकता...

      हटाएं
    2. अशोक जी कृपया मुझे ये बतायें की देश के बड़े औद्योगिक घरानों मे से किसने देश के बारे मे इतना जितना सहारा श्री जी ने.... देशभक्त तो हैं ही और इस बात को कोइ नकार नहीं सकता...

      हटाएं
  2. मैं आप की बात से सहमत हूँ सर।सहारा श्री जी की प्रतिष्ठा को ठेस पहुचाने के लिए ऐसा किया जा रहा है , लेकिन इस देश की जनता का यकीन सहारा श्री जी के ऊपर कायम है और रहेगा।

    उत्तर देंहटाएं
  3. यह कहना गलत होगा कि उनसे बड़ा देशभक्त कोई और नहीं हो सकता

    उत्तर देंहटाएं